Essay on my school in hindi

Essay on my school in hindi for class 6th

अपने दोस्तों के साथ शेयर करें

मेरी पाठशाला निबंध 100 शब्दों में |

  1. मेरी पाठशाला का नाम स्वर्ण गिरी है
  2. इसके भवन में कुल 35 कमरे हैं |
  3. हमारे स्कूल में कुल 1500 विद्यार्थी हैं |
  4. सभी विद्यार्थी समय आते हैं |
  5. सभी विद्यार्थी परोपर ड्रैस में स्कूल आते हैं |
  6. हर कमरे में अलग अलग ब्लैक बोर्ड लगाए गए हैं |
  7. इसमें एक कार्यालय है |
  8. इसमें पीने के पानी का विशेष प्रबंध है |
  9. सभी कमरे खुले व हवादार हैं |
  10. इसमें एक पुस्तकालय भी है जिसमे लगभग 15000 पुस्तकें हैं |
  11. इसमें लगभग पचास अधयापक पढ़ाते हैं |
  12. जिले भर में मेरी पाठशाला का नाम प्रसिद्ध है |
  13. मुझे मेरी पाठशाला पर गर्व है |

Essay on my school in hindi for class 7th

मेरी पाठशाला निबंध 200 शब्दों में |

Essay on my school in hindi
Essay on my school in hindi for class 7th
  1. मेरे स्कूल का नाम राजकीय उच्च विद्यालय है |
  2. मेरे स्कूल का निर्माण सन्न 2006 में हुआ था |
  3. मेरे स्कूल में अभी अभी नई बिल्डिंग बनी है |
  4. यह बहुत बड़ा स्कूल है इसमें लगभग 60 कमरे हैं |
  5. सभी कमरों में परोपर बिजली की सुविधा है |
  6. सभी कमरों में दो – दो पंखे लगे हैं |
  7. हर कमरे में दो ब्लैक बोर्ड लगाए गए हैं |
  8. हमें कक्षा में बैठने के लिए डैस्क और बैंच दिए गए हैं |
  9. बिल्डिंग के सभी कमरे खुले है और हवादार हैं |
  10. हमारे स्कूल के बाहर खेल का मैदान है जिसमे शाम को बच्चे खेलने आते हैं |
  11. मेरे स्कूल में लगभग 1400 विद्यार्थी हैं |
  12. मेरे स्कूल में आसमानी रंग की पोशाक पहनी जाती है |
  13. हमारे स्कूल में 25 अध्यापक हैं |
  14. पीने के पानी के लिए पानी की टंकिया बनायीं गयी हैं |
  15. मेरे स्कूल में एक मुख्य अध्यापक हैं जिनका सभी बच्चे आदर करते हैं |
  16. मेरे प्रिय अध्यापक का नाम अजित है जिनका मैं बहुत सम्मान करता हूँ |
  17. मेरे स्कूल में हर रोज सुबह 8 :00 बजे प्रार्थना की जाती है |
  18. इसमें सभी बच्चे समय पर स्कूल आते हैं |
  19. हमारा स्कूल जिले में हर बार अव्वल रहता है |
  20. मेरे स्कूल पर मिझे गर्व है |

Essay on my school in hindi for class 8th

मेरी पाठशाला निबंध 300 शब्दों में |

Essay on my school in hindi for class 8th
  1. मेरे विद्यालय का नाम राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विधालय है |
  2. यह मेरे गांव से थोड़ी दूरी पर स्थित है |
  3. मैं और मेरे दोस्त पैदल ही स्कूल जाते हैं |
  4. मेरा विद्यालय 2 मंजिला इमारत है |
  5. इसमें लगभग 40 कमरे और एक मुख्य कार्यालय है |
  6. हर कमरे में दो ब्लैक बोर्ड , एक मेज और एक कुर्सी रखी है |
  7. मेरी कक्षा का कमरा मुख्य अध्यापक के दफ्तर है |
  8. यह काफी बड़ा और हवादार है |
  9. इसमें दो दरवाजे , तीन खिड़कियां और दो रोशन दान हैं |
  10. हमारी कक्षा में सफेद रंग का प्लास्टर किया गया है |
  11. इसमें बैठने के लिए बैंच व डैस्क हैं |
  12. हमारे विद्यालय में आठ सौ विद्यार्थी हैं |
  13. मेरे विद्यालय में पहली कक्षा से बारवीं कक्षा तक पढ़ाया जाता है |
  14. हमारे विद्यालय में छात्र व छात्राओं के लिए अलग अलग सेक्शन बनाये गए हैं |
  15. इसमें 24 अध्यापक व 20 अध्यापिकाएं हैं |
  16. सभी अध्यापक ईमानदार , मेहनती व उच्च शिक्षा प्राप्त हैं |
  17. हमारे सभी अध्यापक कुशल व नेक दिल हैं |
  18. हमारे विद्यालय का समय सुबह साढ़े नौ बजे से शाम तीन बजे तक का है |
  19. यह एक सरकारी विद्यालय है जिसमे सभी पुस्तकें मुफ्त दी जाती हैं |
  20. अद्यापकों का बैठने के लिए अलग से एक ऑफिस बनाया गया गया |
  21. विद्यालय के सामने एक छोटा सा बगीचा भी है जिसमे अलग-अलग प्रकार के फूल लगे हैं |
  22. बगीचे में दो माली काम करते हैं जो पौधों को पानी देते हैं और उनकी देखभाल करते हैं |
  23. इसमें हर मौसम में रंग बिरंगे फूल लगे रहते हैं |
  24. मेरे विद्यालय के पास एक तालाब है जिसमे हम रोज मछलियां देखते हैं |
  25. इसमें खेलने के लिए मैदान है जहाँ बच्चे रोज शाम को खेलने आते हैं |
  26. मुझे मेरा विद्यालय बहुत ही अच्छा लगता है और मझे मेरे विद्यालय पर गर्व है |

Essay on my school in hindi for class 9th

मेरी पाठशाला निबंध 400 शब्दों में |

Essay on my school in hindi for class 9th
  1. मेरी पाठशाला का नाम स्वर्ण गिरी विद्यालय है |
  2. मेरी पाठशाला सन्न 2003 में पूर्ण रूप से बनकर तैयार हुयी थी |
  3. इसके में कुल 50 कमरे हैं |
  4. सभी कमरे आकर में बड़े व हवादार हैं |
  5. सभी कमरों में रोशनदान की सुविधा है जिससे परोपर तरिके से हवा का आवागमन है |
  6. प्रत्येक कमरे में खिड़कियों की सुविधा भी है |
  7. हर कमरे में ब्लैक बोर्ड और पंखों का विशेष प्रबंध है |
  8. पाठशाला का सारा सारा भवन आधुनिक डंग से बनाया गया है |
  9. पीने के पानी के लिए टंकियां बनवायी गयी हैं जिससे सभी बच्चे साफ पानी पीते हैं |
  10. पाठशाला के बीचों-बीच मुख्यध्यापक का कार्यालय है |
  11. उसके दाईं और अध्यापकों के बैठने का कमरा है |
  12. साथ ही एक पुस्तकालय है |
  13. इसमें लगभग बीस हजार पुस्तकें हैं |
  14. पाठशाला के सामने एक छोटा सा बगीच भी है |
  15. इसमें हर समय रंग बिरंगे फूल खिले रहते हैं |
  16. बगीचे में कुछ वृक्ष भी हैं |
  17. पाठशाला की चारदीवारी के साथ साथ भी अनेक वृक्ष हुए हैं |
  18. दो माली हमेशा पाठशाला के बगीचे और आँगन की देखभाल करते हैं |
  19. इसके पास ही पाठशाला क्रीड़ा मैदान भी है |
  20. यहाँ सायंकाल को बच्चे खेलने के लिए आते हैं |
  21. क्रिकेट ,फुटबाल , वॉलीबाल और हॉकी आदि खेल यहीं पर होते हैं |
  22. प्रात: काल में यहाँ पर प्रार्थना सभा भी होती हैं
  23. पी. टी. मास्टर हमें ड्रिल कराते हैं |
  24. साथ ही तरह तरह के व्यायाम भी करवाते हैं |
  25. व्यायाम के पश्चात कोई-न-कोई मास्टर नैतिक शिक्षा पर सुविचार बोलता है |
  26. मेरी पाठशाला में कुल पचास के लगभग अध्यापक व अध्यपिकाएँ हैं |
  27. मेरी पाठशाला में कुल पन्द्रह सौ के करीब विद्यार्थी हैं |
  28. मेरी पाठशाला के सभी विद्यार्थी अनुशासन का पालन करते हैं |
  29. मेरी पाठशाला की पोशाक सफेद रंग की शर्ट और खाकी रंग की पैंट है |
  30. यहाँ लड़के व लड़कियां साथ साथ पढ़ते हैं |
  31. हमारे शिक्षक बड़े ही योग , ईमानदार व दयाभाव वाले हैं |
  32. वे हमें पूरी लगन व मेहनत से पढ़ाते हैं |
  33. वे मुख्यध्यापक का सम्मान करते हैं और बच्चों के साथ भी प्रेम का व्यवहार करते हैं |
  34. हमारे मुख्यध्यापक भी बड़े ही मेहनती व अनुशासनप्रिय हैं |
  35. हम सब उनका तह दिल से सम्मान करते हैं |
  36. हर वर्ष मेरी पाठशाला का परिणाम बहुत ही अच्छा आता है |
  37. जिले भर में मेरी पाठशाला प्रसिद्ध है |
  38. यहाँ बच्चों को अनुशासन और उच्च विचारो की शिक्षा दी जाती है |
  39. मुझे अपनी पाठशाला पर गर्व है |

Essay on my school in hindi for class 10th

मेरी पाठशाला निबंध 500 शब्दों में |

Essay on my school in hindi for class 10th

भूमिका – विद्यालय वह मंदिर है जहां विद्या बाँटी जाती है | हमारे विद्यालय का नाम राजकीय उच्च विद्यालय , ढाणा नरसान (भिवानी) -127021 है | यह मेरे गाँव से थोड़ी दूरी पर स्थित है | इसमें छठी कक्षा से लेकर दसवीं कक्षा तक शिक्षा दी जाती है | इसमें लगभग छ: सौ विद्यार्थी हैं | हमारे विद्यालय में लड़के -लड़कियाँ साथ-साथ पढ़ते हैं | यह नगर का इकलौता विद्यालय है जिसमे सिर्फ हमारे गाँव से बच्चे पढ़ने जाते हैं |

1 . विद्यालय की स्थिति – हमारे विद्यालय का सम्पूर्ण भवन नव निर्मित है | इसमें सभी आधुनिक साधन हैं | इसमें विभिन खेलो के क्रीड़ा स्थल हैं जिसमे हम नित्य प्रति खेलते हैं | इसमें एक वाटिका भी है जिसमे अनेक प्रकार के फूल खिले रहते हैं विद्यालय का भवन पूर्णत: हवादार है | हमारे विद्यालय के भवन में तीस श्रेणी कक्ष हैं | सभी कमरों में बिजली के पंखे लगे हुए हैं | इनके अतिरक्त एक सभा भवन भी है | शनिवार को “बाल सभा” एवं अन्य उतस्व इसी सभा में किये जाते हैं | महीने में एक बार लाइव प्रसारण दिखया जाता है | प्रधानाचार्य महोदय का कमरा , कार्यालय एवं स्टाफ रूम सब सुसज्जित हैं |

2 . अध्यापक गण – हमारे विद्यालय में 15 अध्यापक / अध्यापिकाएं हैं | सभी अध्यापक बहुत योग्य हैं | वे हमें अत्यंत परिश्रम व लगन से पढ़ाते हैं | यही कारण है की हमारे विद्यालय की वार्षिक परीक्षा का परिणाम प्रत्येक वर्ष अति उत्तम रहता है | पिछले वर्ष हमारे विद्यालय की आठवीं कक्षा का विनय कुमार राज्य भर में प्रथम रहा है | इसके साथ -साथ दसवीं कक्षा के परीक्षा परिणाम भी प्रति वर्ष बहुत अच्छे रहते हैं |

3 . अन्य प्रमुख विशेषताएं – हमारे विद्यालय की मुख्य विशेषता यह है की इसमें किसी भी छात्र को शारीरिक दण्ड नहीं दिया जाता | अध्यापक बड़े प्यार से पढ़ाते हैं | हमारे विद्यालय में शिक्षा के साथ -साथ खेलों की ओर भी विशेष ध्यान दिया जाता है | हमारे विद्यालय में नैतिक शिक्षा पर विशेष बल दिया जाता है | हमारे विद्यालय में हर वर्ष पुरष्कार वितरण समारोह का आयोजन भी किया जाता है | इस समारोह में विभिन्न गतिविधियों में योग्यता प्राप्त विद्यार्थियों पुरष्कार डीओए जाते हैं तथा प्रधानाचार्य द्वारा वार्षिक रिपोर्ट पढ़ी जाती है | मुझे अपने विद्यालय से बड़ा प्यार है | यह वह मंदिर है जहाँ हमें शिक्षा दी जाती है और जीवन का निर्माण किया जाता है |

4 . हमारे प्रधानाचार्य – हमारे विद्यालय के प्रधानाचार्य का नाम डॉ. विश्वराय सेन हैं | वे बड़े ही योग्य एवं दूरदर्शी हैं | वे स्वयं विद्यालय के परिसर देखभाल करते हैं | वे नौवीं और दसवीं कक्षाओं के विधार्थियों को स्वयं अंग्रेजी पढ़ाते हैं | एक योग्य अध्यपक कारण सभी अध्यापक-अध्यापिकाएं उनका बड़ा आदर करते हैं |

उपसंहार – वैसे तो हमारे गाँव के आस पास 15 -20 विद्यालय हैं | वे भवन की नजर की से भव्य हो सकते हैं | उनमे छात्रों की संख्या अधिक हो सकती है ,किन्तु हमारा विद्यालय एक आदर्श विद्यालय है | यहाँ विद्यार्थी को व्यक्तित्व के सर्वांगीण विकास के पूर्ण अवसर प्रदान किये जाते हैं | यहां वातावरण सुखद ,शांत और शिक्षाप्रद है | मुझे अपने विद्यालय गर्व है |


अपने दोस्तों के साथ शेयर करें

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *